history of computer technology

History of computer technology


नमस्कार दोस्तों मेरा नाम राहुल जैन और मैं हमारे इस ब्लॉग पर आपका स्वागत करता हूँ | दोस्तों आज में आपको कंप्यूटर कि history के बारे में बात करूंगा | हम जो कंप्यूटर चलाते है उसकी history भी तो जाननी चाहिए


 पहला गणना किये जाने के उद्देश्य से उपयोग में लाये जाने वाला उपकरण  जो लगभग 2000 वर्ष पूर्व उपयोग किया जाता था उसे हम अबेकस कहलाता था | उस युग में गणना करने के उपकरण के क्षेत्र में विकाश  लगभग  न के बराबर  था |
अगला परिवर्तन लगभग 1600 वर्ष बाद आया | इसके बाद इस क्षेत्र में विकास में गति परिलक्षित हुई  तथा  1800 A D के लगभग  mechanical desk calculator का विकास  हुआ | यदि हम कंप्यूटर के इतिहास को देखे  तो वह लगभग 3000  BC पुराणी होगी |

  1. प्रस्तर युग में मानव  गाय -- बैल तथा अन्य पालतू पशुओं को गिनने के लिए goal पत्थरो  का उपयोग करते थे |
  2. बाद में चीन  में अबेकस नाम का एक उपकरण विकसित हुआ | यह पहला यन्त्र चालित  गणना उपकरण  माना जाता है |
  3. सन 1617  में एक skotish गणितज्ञ जौन नेपियर ने एक एक उपकरण का विकाश किया जो नेपियर्स बोन्स कहलाता है इस उपकरण के  उपयोग से अंकगणित कि दो मूलभूत क्रियाएं योग तथा गुणन संपन्न कि जा सकती थी |
  4. सन 1642  में फ्रांस के एक गणितज्ञ BLAISE PASCAL ने पहला mechanical calculater का आविष्कार किया |
  5. सन 1673 में एक जर्मन विज्ञानी Gottfried whihe'm  Leibniz  ने लीबनिज calculater का आविष्कार किया  जिसका उपयोग जोड़ने ,घटाने ,और गुणन करने के लिए किया जाता था |
  6. सन 1834  में एक अंग्रेज गणितज्ञ चाल्स  babbage ने analytical engine नाम के एक मशीन का आविष्कार किया | आज के कंप्यूटर द्वारा सम्पादित किये जा रहे लगभग सभी  कार्यो को यह कर सकता था | इसलिए चाल्स babbage को कंप्यूटर का पिता माना जाता है |
  7. सन 1941 में वेन बुश एवं Howard Aikeen ने बड़े कंप्यूटर का निर्माण किया जिसका नाम howard mark था | यह उपकरण बिजली से भी चल सकता है 
    तो दोस्तों यदि आपको हमारा आर्टिकल पसंद     आता है तो इस आर्टिकल को शेयर करें  इससे संबंधित को question है तो कमेंट करे

                                                                                                                                       thanks for reading 
    Previous
    Next Post »